इस वेबसाइट को सबसे अच्छी तरह देखा जा सकता हैMicrosoft इंटरनेट एक्सप्लोरर 9.0+,क्रोम,Firefox

English


  •  
  •  
SlideBar
CAPTCHA
Website Feedback

अवलोकन

जब आप अस्पताल आयें तो एक जिम्मेदार अटेंडेंट को साथ में लायें जो आपकी मदद कर सकें और जरूरत पड़ने पर आपके लिए निर्णय भी लें ।

अगर आप मुंबई के बाहर से आए हुए मरीज हैं तो इस बात की जांच करना कि आपकी पहले से मौजूद वैद्यकीय अवस्था जैसे (उच्च रक्तचाप), मधुमेह आदि नियंत्रण में है उपयोगी रहेगा । जब आप मुंबई आने की योजना बनायें तो ऐसा किया जा सकता है । इससे आपके इलाज में विलंब नहीं होगा और मुंबई में आपको कम दिन रुकना पडेगा।

(रिपोर्ट, एक्स-रे प्लेट, पथोलॉजी स्लाइड्स और ब्लॉक्स ) तथा आपका इलाज करने वाले डॉक्टर/संस्थान से एक रेफरेल लेटर लेकर आयेँ।

मरीज से अनुरोध है कि अस्पताल आते वक्त अपने साथ आधार कार्ड (अपना और पति/पत्नी या माता/पिता का) लेकर आयें। पंजीकरण के समय इसकी जरूरत पड़ेगी ।

अस्पताल का कार्य-समय सोमवार से शुक्रवार प्रात: 9.15 से शाम 5.30 बजे तक है । शनिवार को दोपहर 2.15 को कार्य-समय समाप्त हो जाता है । सभी राजपत्रित केंद्र सरकार अवकाश  पर अस्पताल बंद रहता है । आपातकालीन सेवायें प्रतिदिन चौबीस घंटे उपलब्ध हैं ।

  1. पंजीकरण
  2. कन्सलटेशन
  3. नैदानिक सेवायें
  4. अपोइंटमेंट और यात्रा रियायत
  5. वित्तीय सहायता
  6. अस्पताल डिस्पेंसरी
  7. डे केयर सेंटर

आप अस्पताल में जो सेवायें प्राप्त करेंगे उन सेवाओं के लिए भुगतान करने की आपकी आर्थिक क्षमता के अनुसार आप जनरल या प्राइवेट मरीज के रूप में अपना पंजीकरण करायें | कृपया सोच-समझकर निर्णय लें क्योंकि एक वर्ग से दूसरे वर्ग में जाने की अनुमति केवल एक बार दी जाएगी | पूछताछ काउंटर पर बैठे जन संपर्क के कार्मिक इसमें आपकी मदद करेंगे |
 

जनरल मरीज

जनरल मरीज, गोल्डन जुबिली बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर स्थित पंजीकरण कार्यालय में अपना पंजीकरण कराते हैं ।
आपको व्यक्तिगत जानकारी फॉर्म भरना होगा जिसमें आपके जनसंख्यिकीय विवरण शामिल होंगे ।
अगर आपको कोई तकलीफ होती है तो कृपया जन संपर्क कार्यालय /वैद्यकीय समाज कार्मिक /स्वैच्छिक समाज सेवक की मदद ले सकते हैं । फॉर्म भरने के बाद, आप पंजीकरण काउंटर पर जायें, जहाँ से आपको एक केस फाइल और रजिस्ट्रेशन कार्ड जारी किया जाएगा ।
मेडिकल सोशयल वर्कर जनरल मरीजों से पूछताछ करेंगे और मरीज की आर्थिक स्थिति के अनुसार उन्हें ‘नो चार्जेस’ (एनसी) या ‘चार्ज’ वर्ग में रखा जाएगा ।
जनरल ‘सी’ वर्ग के मरीजों को शुल्क अनुसूची के अनुसार उपयोग की गई सेवाओं के लिए नाम मात्र शुल्क भरना होगा ।
इसके बाद, ओपीडी के प्रभारी डॉक्टर आपके कागजात देखेंगे और आपको आपके इलाज के लिए उपयुक्त डॉक्टर /सेवा नियत की जाएगी ।

प्रायवेट मरीज

होमी भाभा बिल्डिंग के पहले तल पर स्थित पंजीकरण कार्यालय में प्राइवेट मरीज का पंजीकरण होता है ।
यदि टाटा स्मारक अस्पताल के साथ पूर्व क्रेडिट व्यवस्था से आपके नियोक्ता/बीमा कंपनी के द्वारा आपको रेफर किया गया है तो क्रेडिट सुविधा बढाने के लिए कृपया हमारे लेखा विभाग से संपर्क करें |
प्राइवेट वर्ग के मरीज होने के कारण आप अपने लिए डॉक्टर का चयन कर सकते हैं । अगर आपकी कोई विशेष पसंद नहीं है तो प्राधिकारी आपके लिए डॉक्टर निर्दिष्ट करेंगे ।
ऊपर बताई गई औपचारिकतायेँ पूरी करने के बाद आपको पंजीकरण कार्यालय द्वारा एक केस फाईल तथा आपका केस फाईल नंबर लिखा पंजीकरण कार्ड जारी किया जाएगा । इस कार्ड को संभालकर रखना जरूरी है क्योंकि आप जब भी इलाज या कन्सलटेशन के लिए अस्पताल आयेंगें तो इस कार्ड की मदद से हर बार आपका मेडिकल केस फाईल जल्द मिल पाएगा | केस फाइल
नंबर आपके मेडिकल रिकॉर्ड का पहचान सूचक है ।

पंजीकरण होने के बाद आपको, आपका इलाज करने वाले डॉक्टर/विभाग में भेजा जाएगा | डॉक्टर आपके मेडिकल रिपोर्ट देखेंगे और आपसे कोई अन्य जांच करने के लिए कह सकते हैं |
आपको क्रोस कन्सलटेशन के लिए दूसरे डॉक्टरों के पास भी भेजा जा सकता है | हमारे अस्पताल में ही सभी जाँचे कराना आपके लिए बेहतर होगा |

आपका इलाज करने वाले डॉक्टर द्वारा दी गई सलाह के आधार पर आपको जांच किए जाने वाले विविध विभागों में भेजा जाएगा जहां आपको रक्त/शरीर के स्राव के सैंपल देने पड सकते हैं | जरूरत पड़ने पर आपका नैदानिक स्कोपी/बायोप्सी भी किया जाएगा |

एक आउटपेशंट के रूप में आप जो भी सेवायें प्राप्त करते हैं उसके लिए आपको भुगतान करना होगा | आपका इलाज करने वाले डॉक्टर की सेक्रेटरी एक समेकित मेमो बनायेंगे और यह रकम तल मंजिल पर स्थित कैश काउंटर पर भरना होगा | अगर आप क्रेडिट पेशंट हैं तो आप जो सेवायें प्राप्त करते हैं उसके लिए आपके खाते से इन सेवाओं का मूल्य वसूल किया जाएगा |

आपका इलाज करने वाले डॉक्टर, आपके रिपोर्ट देखने के बाद इलाज के विकल्पों के बारे में आपसे चर्चा करेंगे | इलाज को लेकर आपके मन में किसी भी प्रकार की शंका हो तो कृपया उनका निराकरण करें | यदि डॉक्टर आपको राय देते हैं कि आपको अस्पताल में भर्ती होकर अपना इलाज कराना है तो कृपया पता करें कि क्या आपको खून/बोन मेरो डोनर की व्यवस्था करने की आवश्यकता है ? आपके डॉक्टर आपको इलाज पर आने वाले खर्च का एक एस्टीमेट भी देंगे | कृपया ध्यान दें कि यदि कोई कोमप्लिकेशन होते हैं तो आपको इलाज का खर्च बढ़ सकता है जिसके लिए आपको पैसों की व्यवस्था करनी होगी |

आपकी जांच पूरी होने के बाद आपको अपनी केस फाइल प्राइवेट ओपीडी में सम्बंधित सेक्रेटरी के पास या जनरल ओपीडी में पंजीकरण कार्यालय में जमा करनी है | अपने रेफरेंस और रिकोर्ड के लिए आप फाइल की फोटोकोपी करा सकते हैं | मरीज के केस फाइल की फोटोकोपी पर जन संपर्क अधिकारी द्वारा साक्ष्यांकन किया जाता है |

आपको अगली बार डॉक्टर से मिलने कब आना है इसके लिए आपके डॉक्टर की सेक्रट्री या पंजीकरण कार्यालय आपको एक अपोइंटमेंट स्लिप जारी करेगा जिसमें आपके अगले अपोइंटमेंट के समय और तारीख संबंधी विवरण होंगे | संबन्धित यात्रा प्राधिकारियों द्वारा निर्धारित नियमों के अनुसार आप अपने स्थायी निवास स्थान तक सड़क/रेल/हवाई परिवहन हेतु यात्रा रियायत का लाभ ले सकते हैं |

वित्तीय सहायता

सरकारी योजनाओं से वित्तीय मदद प्राप्त करने के लिए अनिवार्य कागजात :

सरकारी योजनायें

  • राज्य द्वारा जारी आय प्रमाण पत्र (तहसीलदार/उप प्रभागीय अधिकारी/ब्लॉक विकास अधिकारी)
  • राज्य के राशन कार्यालय द्वारा जारी राशन कार्ड
  • आधार कार्ड या सरकार द्वारा जारी वैध फोटो पहचान पत्र जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, वोटर आयडी, पैन कार्ड, या नियोक्ता द्वारा जारी अन्य पहचान पत्र |
  • प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना – आयुष्मान भारत कार्ड
  • राज्य स्वास्थ्य योजनाओं के लिए सम्बंधित राज्य सरकारों द्वारा जारी बेनेफिशियरी कार्ड

संगठित और असंगठित क्षेत्रों में नियुक्त कार्मिक

  • वेतन पर्ची
  • ईएसआयएस कार्ड/सीजीएचएस कार्ड/टाटा स्मारक अस्पताल में इलाज कराने की सिफारिश करते हुए सम्बंधित अधिकारियों द्वारा जारी रेफरल कार्ड |
  • स्वयं या नियोक्ता द्वारा आवेदित मेडिक्लेम और बीमा के विवरण कृपया बताएं और शेयर करें |

कृपया ध्यान दें सेवायें जल्द प्राप्त करने के लिए कृपया ऐसे कागजात प्रस्तुत करें जिनमें ऊपर बताये गए सभी दस्तावेजों पर एक ही नाम और पता हो | अगर दी गई सूचनाओं में कोई विसंगति होती है तो इससे विलम्ब हो सकता है या आपको मिलने वाले लाभ बंद हो सकते हैं |

कोई भी सवाल हो तो कृपया संपर्क करें – मेडिकल सोश्यल सर्विसेस, गोल्डन जुबिली बिल्डिंग, तल मंजिल कमरा नं 54,
                                                         समय-  सोमवार  से  शुक्रवार-  – सुबह 8:00 बजे से शाम 5:30 बजे तक | 

अस्पताल डिस्पेंसरी


अस्पताल के परिसर में नीचे दिए गए स्थलों पर स्टॉक की हुई डिस्पेंसरी हैं :

  • बेसमेंट, मेन बिल्डिंग
  • 2 रा तल, मेन बिल्डिंग
  • भू तल, अनेक्स बिल्डिंग

हम यह सुनिश्चित करते हैं कि हमारे डिस्पेंसरी से अच्छी क्वालिटी की दवाइयाँ, उचित दर पर बेची जा रही हैं | इसलिए दवाईयां/अन्य सामान अस्पताल की डिस्पेंसरी से ही लेना उचित रहेगा | प्रति मेमो रु100/- से अधिक की लागत की अनुपयुक्त दवाईयां, बिक्री की तारीख से 3 महीने तक डिस्पेंसरी वापिस ले सकती है इस शर्त पर कि लौटाई जाने वाली वस्तुओं की प्रामाणिकता संतोषजनक है |

डे केयर सेंटर


आप जो सेवायें प्राप्त करेंगे उनके लिए भुगतान करने की आपकी आर्थिक क्षमता के अनुसार आप जनरल या प्राइवेट पेशंट के रूप में अपना पंजीकरण करा सकते हैं | आप सोच समझकर वर्ग का चयन करें क्यूंकि एक वर्ग से दूसरे वर्ग में आपका फाइल केवल एक बार बदलने की अनुमति है | पूछताछ काउंटर पर मौजूद जन संपर्क कार्मिक इसमें आपकी मदद करेंगे |

 

हमसे संपर्क करें

टाटा मेमोरियल अस्पताल
डॉ ई बोरगेस रोड, परेल, मुंबई - 400 012 इंडिया
फ़ोन: +91-22- 24177000, 24146750 - 55
फैक्स: +91-22-24146937
ईमेल : msoffice@tmc.gov.in (रोगी देखभाल और प्रश्नों के लिए) / hrd@tmc.gov.in(प्रशासनिक के लिए - HRD मायने रखता है)

788907 (48)